Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.

Society

मुंबई | मार्च 1, 2021
भारत में कुपोषण सम्बन्धी समस्या को समझने के लिए एक नवीन दृष्टिकोण

बच्चों में अल्पपोषण, सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी और मोटापे से संबधित मूल्यांकन के लिए शोधकर्ता एक  नई तकनीक का उपयोग करते हैं। 

General, Science, Health, Society, Deep-dive
बेंगलुरु | फ़रवरी 22, 2021
राज्य द्धारा किये जा रहे विकास में महिलाओं की भूमिका: विरोधाभासों की एक कहानी

भारत के कुछ जगहों पर सत्ता और संसाधनों के लिए निरंतर संघर्ष ने बड़े अनुभागो के लोगों को  स्वत्व अधिकार मांग करने और उन पर जबरन लगाए गये  संवैधानिक पद क्रम  को अस्वीकार करने के लिए मजबूर कर दिया है। इसके बजाय  वे सक्रिय रूप से अपने जीवन में सरकार के विभिन्न स्तरों की सत्ता को पलटने में भाग लेते हैं। यह सत्य है विशेष रूप से आदिवासी लोगों की बड़ी आबादी वाले उन क्षेत्रों में, जो लोग मताधिकार से वंचित महसूस करते हैं। वे संवैधानिक शक्तियों के खिलाफ सशस्त्र संघर्ष का सहारा लेते हैं और इस प्रक्रिया  को बगावत के रूप में जाना जाता है। ऐसा ही एक क्षेत्र पश्चिम बंगाल के पश्

General, Science, Society, Policy, Deep-dive
बेंगलुरु | फ़रवरी 5, 2021
 भारत में पैर पसारती मानसिक बीमारियों का मानचित्रण

In a series of articles, Research Matters tries to shed some insights into India’s mental health concern, its different aspects, including the lack of awareness about mental health in general — through the lens of science.

General, Science, Health, Society, Friday Features
बेंगलुरु | जनवरी 29, 2021
भारत का मानसिक स्वास्थ्य संकट परिदृश्य - एक विवादास्पद विषय पर चर्चा

बेंगलुरु निवासियों की ३ सितंबर, २०१३ की सुबह इस भयावह समाचार शीर्षक के साथ हुई ‘सतर्क रहें, मनोविकृत रोगी बेंगलुरु में खुलेआम घूम रहा है’ (वॉच आउट, देयर इज साइको ऑन द लूज़)। यह​ समाचार तमिलनाडू के सलेम शहर के एक ट्र्क चालक एम.

General, Science, Health, Society, Friday Features
बेंगलुरु | जनवरी 11, 2021
प्रतिबंध के बावजूद, भारत में पशु चिकित्सा के उपयोग में आने वाली गिद्ध घातक दवा डाइक्लोफेनाक व्यापक रूप से बेची जाती है

एक गुप्त सर्वेक्षण में पाया गया है कि कैसे दवा की दुकानों में आसानी से मिलने वाली प्रतिबंधित डाइक्लोफेनाक और अन्य गिद्ध-  घातक दवाएं दक्षिण एशिया में धीरे-धीरे बढ़ने वाली गिद्ध आबादी के लिए  खतरा बनती जा रही है।

General, Science, Ecology, Society, Deep-dive
मुंबई | जनवरी 4, 2021
प्राकृतिक गैस के उपयोग का भारतीय अर्थव्यवस्था एवं पर्यावरण पर प्रभाव का परीक्षण

शोधकर्ताओं ने भारत की अर्थव्यवस्था और पर्यावरण पर प्राकृतिक गैस के बढ़ते उपभोग के प्रभाव का अध्ययन किया है।

General, Science, Society, Deep-dive
मुंबई | नवंबर 2, 2020
प्रौद्योगिकी अब टेनिस में केवल एक साधन ही नहीं, अपितु एक प्रमुख भूमिका निभा रही है

अध्ययन से ज्ञात होता है कि टेनिस का खेल बहुत कुछ सूचना एवं सम्प्रेषण प्रौद्योगिकी पर निर्भर करता है।

General, Science, Technology, Society, Deep-dive
Bengaluru | अक्टूबर 23, 2020
यह अध्ययन दिखाता है कि उपचार के बाद भी क्षयरोग के कारण फेफड़ों पर पड़े दाग बचे रह जाते हैं .

क्षय रोग के नाम से ही कई लोग भयभीत हो जाते हैं क्योंकि यह दुनिया भर में मृत्यु के मुख्य कारणों में से एक माना जाता है। हालाँकि अनेक औषधियों के एक साथ उपयोग से इसका उपचार संभव है, इसके जीवाणु में बढ़ती हुई औषध प्रतिरोध की शक्ति के कारण, सार्वजनिक स्वास्थ्य पर संकट आ गया है। माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्युलोसिस नाम का जीवाणु, जिससे ये संक्रमण होता है, सबसे पहले फेफड़ों

General, Science, Health, Society, Deep-dive
Society की  सदस्यता लें!